Covid Vaccine Registration: 18 साल से अधिक आयु वालों के लिए Covid-19 Vaccine Registration हुआ शुरू, कोविन पोर्टल और आरोग्य सेतु ऐप से रजिस्ट्रेशन करें

Covid Vaccine Registration: 18 साल से अधिक आयु वालों के लिए Covid-19 Vaccine Registration हुआ शुरू, कोविन पोर्टल और आरोग्य सेतु ऐप से रजिस्ट्रेशन करें

Spread the love

Covid Vaccine Registration: 18 साल से अधिक आयु वालों के लिए कोविड-19 वैक्सीन रेजिस्ट्रेशन (Covid-19 Vaccine Registration) हुआ शुरू, कोविन पोर्टल (Cowin) और अरोग्य सेतु ऐप (Arogya Setu App) से रेजिस्ट्रेशन करे । जैसे कि आप सभी को पता है कि देश मे कोविड-19 महामारी से लड़ने के लिए 1 मई से कोरोना का महा टीकाकरण अभियान की शुरुआत होने जा रही है और इस दौरान 18 साल से अधिक आयु वर्ग के लोग टीका लगवा सकेंगे। इसके लिए 28 अप्रैल यानी यानी आज शाम 4 बजे से रजिस्ट्रेशन शुरू हो चुका है।

वर्तमान में भारत में दो प्रकार की कोविड वैक्सीन लगाए जा रही हैं, जिनमें से एक हैदराबाद स्थित भारत बायोटेक द्वारा विकसित कोवक्सीन (Covaxin) है, जबकि दूसरी वैक्सीन का नाम कोविशील्ड (Covishield) है, जिसे ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका (Oxford Astrezeneca) ने तैयार किया है और सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute of India) द्वारा भारत मे ही बनाया जा रहा है। हालांकि हाल ही में कुछ नए वैक्सीन को भी इंडियन ड्रग रेग्यूलेटर ने इजाजत दी है।

Covid Vaccine Registration: 18 साल से ऊपर के सभी लोगों को रजिस्ट्रेशन कराना होगा जरूरी

18 साल से ऊपर के सभी लोगों को रजिस्ट्रेशन कराना होगा जरूरी  क्योंकि18 साल से 45 साल के उम्र के लोगों को बिना रजिस्ट्रेशन के वैक्सीन नहीं लगाई जाएगी। इस आयु वर्ग के लोगों को कोरोना वैक्सीन के लिए रजिस्ट्रेशन कराना होगा और अपाइंटमेंट बुक करना होगा।

कोविड-19 वैक्सीन रेजिस्ट्रेशन (Covid Vaccine Registration)

कोविड-19 वैक्सीन रेजिस्ट्रेशन (Covid Vaccine Registration): देश मे कोरोना महामारी की दूसरी सबसे खतरनाक लहर इस समय चल रही है। जिससे दिन-प्रतिदिन साढ़े तीन लाख से ज्यादा मामले सामने आ रहे और दो से ढाई हजार लोगों की मौत रोजाना हो रही है । कोरोना के कहर के बीच देश की केंद्र और राज्य सरकारों ने यह निर्णय लिया है । 1 मई से कोरोना महामारी के खिलाफ महा टीकाकरण अभियान की शुरुआत की जाए। कोरोना की वैक्सीन लेने के लिए आपको कोविड-19 वैक्सीन रेजिस्ट्रेशन (COVID 19 vaccine registration) कराना जरूरी होगा ।

  • रेजिस्ट्रेशन सिर्फ 18 साल से 45 साल के आयुवर्ग के लोगों के लिए वैक्सीन का रेजिस्ट्रेशन आज शाम के चार बजे कोविन (cowin.gov.in),
  • आरोग्य सेतु (Arogya Setu) और उमंग एप (Umang App) पर रजिस्ट्रेशन शुरू हुआ है.
  • हालांकि हैवी ट्रैफिक की वजह से वेबसाइट/App में दिक्कतें सामने भी आई और ऐप्प में दिक्कत की शिकायत के बाद आरोग्य सेतु ने ट्वीट कर कहा है कि कोविन पोर्टल अब ठीक से काम कर रहा है. शाम के चार बजे मामूली दिक्कत आई थी ।

Also Read: Delhi Lockdown News: सीएम केजरीवाल ने दिल्ली में की लॉकडाउन की घोषणा, जानें क्‍या खुलेगा और क्‍या रहेगा बंद

कोविड-19 (Covid-19) की दूसरी लहर से निपटने के लिए शुरू हुई टेस्टिंग (Coronavirus Testing): कोरोना महामारी से संक्रमण का पता लगाने के लिए देश में कई तरह के टेस्ट के विकल्प मौजूद हैं लेकिन इस जांच सर्वाधिक प्रयोग रैपिड एंटीजन टेस्ट (Rapid Antigen Test) और आरटी-पीसीआर टेस्ट (RT-PCR Test) का होता है। देश में इन दो टेस्ट के जरिए सरकार व्यक्ति में संक्रमण के बारे में पता करती है। हालांकि, ये दोनों टेस्ट सौ फीसदी सही नहीं होते। इन दोनों टेस्ट में आरटी-पीसीआर टेस्ट (RT-PCR Test) को ज्यादा विश्वसनीय माना जाता है। एंटीजन टेस्ट की रिपोर्ट 15 से 30 मिनट के अंदर आ जाती है जबकि आरटीपीसीआर टेस्ट में छह से आठ घंटे का  समय लगता है। 

Credit: Janstta

Covid Vaccine Registration: आरटी-पीसीआर टेस्ट (RT-PCR Test) क्या होता है ?

आरटी-पीसीआर टेस्ट (RT-PCR Test) का पूरा नाम ‘रिवर्स ट्रांसक्रिप्शन पॉलिमियर्स चेन रिएक्शन’ है। इसकी जांच प्रयोगशाला में की जाती है। इस टेस्ट के जरिए व्यक्ति के शरीर में कोरोना वायरस (Coronavirus) का पता लगाया जाता है। इसमें वायरस के आरएनए की जांच की जाती है। ज्यादातर सैंपल नाक और गले से म्यूकोजा के अंदर वाली परत से स्वैब लिया जाता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन और यूएस सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल पीसीआर टेस्ट को ज्यादा विश्वसनीय मानते हैं। लेकिन अन्य टेस्ट की तरह यह टेस्ट भी पूरी तरह से पूर्ण नहीं है। इसकी जांच की कीमत एंटीजन टेस्ट से महंगी होती है। दिल्ली में आरटीपीसीआर टेस्ट की कीमत 800 रुपए तय की गई है।

रैपिड एंटीजन टेस्ट (Rapid Antigen Test) क्या होता है?

बाहर से शरीर में दाखिल होने वाले वैक्टीरिया एंटीजन होते हैं। रैपिड एंटीजन टेस्ट (Rapid Antigen Test) के नतीजे 15 से 30 मिनट के भीतर आ जाते हैं। इस जांच में व्यक्ति की रिपोर्ट यदि निगेटिव आती है तो उसे फाइनल नहीं माना जाता। इस टेस्ट की आरटीपीसीआर जांच होती है। रैपिड एंटीजन टेस्ट (Rapid Antigen Test) में व्यक्ति की रिपोर्ट यदि पॉजिटिव (Positive) आती है तो उसे संक्रमित मान लिया जाता है। एंटीजन टेस्टिंग व्यक्ति के पास जाकर की जाती है।  इस टेस्ट में व्यक्ति की नाक के दोनों तरफ से फ्लूइड का सैंपल लिया जाता है। स्ट्रिप पर एक रेड लाइन आने पर रिपोर्ट निगेटिव मानी जाती है। स्ट्रिप पर यदि दो रेड लाइन आती है तो व्यक्ति को संक्रमित माना जाता है। इस जांच की कीमत 150 रुपए है।


Spread the love
Delhi Lockdown News: सीएम केजरीवाल ने दिल्ली में की लॉकडाउन की घोषणा , जानें क्‍या खुलेगा और क्‍या रहेगा बंद

Delhi Lockdown News: सीएम केजरीवाल ने दिल्ली में की लॉकडाउन की घोषणा , जानें क्‍या खुलेगा और क्‍या रहेगा बंद

Spread the love

Delhi Lockdown News: नई दिल्ली New Delhi: दिल्ली में बढ़ते कोरोना मामलों को लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Delhi Chief Minister Arvind Kejriwal) ने कॉन्फ्रेंस करते हुए बताया कि कोरोना के बढते मामलों को मध्यनजर रखते हुए दिल्ली में सोमवार मध्य रात्रि से अगले सोमवार (26 अप्रैल) सुबह 5 बजे तक लॉकडाउन लगाया जा रहा है।

Delhi Lockdown News: दिल्ली में 7 दिनों का लॉकडाउन 2.0 (Delhi Lockdown 2.0) लगाया गया

दिल्ली में बढ़ते कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए दिल्ली में आज यानि सोमवार रात 10 बजे से लॉकडाउन लगाया जा रहा है। लॉकडाउन के दौरान दिल्ली में सिर्फ आवश्यक सेवाओं को ही चालू रखने की ही इजाजत दी गई है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को कहा कि पिछले 24 घंटे में लगभग 23,500 मामले आए हैं। संक्रमण दर बहुत ज्यादा बढ़ गई है जिस वजह से दिल्ली के अस्पतालों में बेड की भारी कमी हो रही है। ICU बेड लगभग खत्म हो चुके हैं। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने यह भी बताया कि दिल्ली के सरकारी और निजी अस्पतालों में कोरोना से संक्रमित लोगों के लिए 100 से भी कम ICU बेड बचे हैं। दवाईयों की भारी किल्लत हो रही है इसलिए इन सब स्तिथियों को देखते हुए दिल्ली में आज रात 10 बजे से अगले सोमवार (26 अप्रैल) को सुबह 5 बजे तक 6 दिन के लिए लॉकडाउन लगाया गया है। इस दौरान आवश्यक सेवाएं जारी रहेंगी। लोगों की शादियां केवल 50 लोगों के साथ सम्पन्न होंगी, शादियों में आने वाले मेहमानों को अलग से पास दिए जाएंगे। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कॉन्फ्रेंस में यह भी कहा कि “मुझे उम्मीद है कि यह छोटा लॉकडाउन है और छोटा ही रहेगा और शायद इसे बढ़ाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।”

दिल्ली लॉकडाउन 2.0 (Delhi Lockdown 2.0) में ऐसे चलेगी दिल्ली मेट्रो (Delhi Metro)

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में कोरोना की बेकाबू स्थिति को देखते हुए दिल्ली मेट्रो ने दिल्ली लॉकडाउन 2.0 (Delhi Lockdown 2.0) लगने के बाद टाइम टेबल और दिल्ली मेट्रो के अंतराल में कुछ बदलाव किए गए हैं। दिल्ली मेट्रो ने मेट्रो सेवाओं में किए गए परिवर्तन की जानकारी दी है।

delhi lockdown stay at home

दिल्ली मेट्रो टाइम टेबल (Delhi Metro Time Table)

दिल्ली मेट्रो के मुताबिक, दिल्ली में आज यानि सोमवार रात 10 बजे से 26 अप्रैल (सोमवार) सुबह 5 बजे तक लगाए गए कर्फ्यू के मद्देनजर दिल्ली मेट्रो की सेवाएं सुबह 8 बजे से सुबह 10 बजे तक और शाम 5 बजे से शाम 7 बजे तक जारी रहेंगी। ये सेवाएं सभी नेटवर्क लाइन्स पर 30 मिनट के अंतराल पर रहेंगी। हालांकि, सिर्फ उन्हीं लोगों को मेट्रो में प्रवेश की इजाजत दी जाएगी जिनके पास मान्य पहचान पत्र होगा।

Delhi Lockdown News: दिल्ली मेट्रो (Delhi Metro) में किसे मिलेगी छूट, जानिए

दिल्ली लॉकडाउन 2.0 (Delhi Lockdown 2.0) लगने के बाद डीएमआरसी (DMRC) ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान कोरोना की वैक्सीन (Vaccine) लगवाने जा रहे लोग, गर्भवती महिलाएं और मरीजों को इलाज के लिए आने-जाने के लिए दिल्ली मेट्रो (Delhi Metro) और डी. टी.सी. बसों (DTC Buses) में छूट होगी। हेल्थ, पुलिस, फायर ब्रिगेड, इलेक्ट्रिसिटी, वॉटर सप्लाई जैसी इमर्जेंसी सेवाओं से जुड़े सरकारी कर्मचारियों को वीकेंड कर्फ्यू से छूट होगी। सभी को अपना आधिकारिक परिचय पत्र (Identity Card) या कर्फ्यू पास (Curfew Pass) दिखाना जरूरी होगा।

Delhi Lockdown News: एयरपोर्ट, रेलवे व बस स्टेशन जाने वालों को दिखाना होगा अपना कन्फर्म टिकट 

दिल्ली लॉकडाउन 2.0 (Delhi Lockdown 2.0) के दौरान दौरान एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन या आईएसबीटी जाने या वहां से आने वाले लोगों को कन्फर्म टिकट दिखाना अनिवार्य होगा तभी उन्हें सफर की इजाजत होगी। इसके साथ ही ऐसे यात्रियों को ई-पास लेना जरूरी होगा। कर्फ्यू ई-पास की सॉफ्ट या हार्ड कॉपी आपको पास रखनी होगी। ई-पास या कर्फ्यू पास लेने के लिए आप दिल्ली सरकार की वेबसाइट पर अप्लाई कर ले सकते हैं। वहीं अगर दिल्ली में बसों की बात की जाए तो डीटीसी बसों (DTC Buses) में सिर्फ छूट प्राप्त लोगों को ही यात्रा की अनुमति दी गई है। 

Delhi covid lockdown news

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए 1 मई से 18 साल के ऊपर के लोगो को लगेगी वैक्सीन (Vaccine)

देश मे कोरोना की रफ्तार तेजी से फैल रही है। इसको देखते हुए केंद्र सरकार (Central Government) ने बड़ा फैसला लिया है । केंद्र सरकार (Central Government) का यह फैसला कोरोना की वैक्सीन को लेकर है । कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए 1 मई से 18 साल से ज्यादा उम्र के सभी लोग वैक्सीन (Vaccine) लगवा सकेंगे । केंद्र और राज्य सरकारो ने यह भी फैसला लिया है कि वैक्सीन बनाने वाली कंपनियां अपनी 50% सप्लाई केंद्र को करेंगी और बाकी की 50% सप्लाई सभी राज्य सरकारों (State Governments) को दे सकेंगी या उसे ओपन मार्केट में बेच सकेंगी । वैक्सीनेशन के लिए कोविन के जरिए रजिस्ट्रेशन पहले की तरह अनिर्वाय रहेगा उसमें कोई फेरबदल नही किया गया है।

वैक्सीन (Vaccine) लगवाने का पहले यह नियम था 

अब तक वैक्सीन (Vaccine) सिर्फ 45 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को देशभर में कोरोना वैक्सीन लगाई जा रही थी । सरकारी आंकड़ो के मुताबिक देशभर में 12.38 करोड़ लोग वैक्सीन का पहला या दूसरा डोज ले चुके हैं । सरकार की ओर से सोमवार शाम को जारी आदेश के मुताबिक, नई पॉलिसी 1 मई 2021 से लागू की जाएगी और इसे समय-समय पर रिव्यू भी किया जाएगा ।

Also Read: UPSC EPFO Admit Card 2020: यूपीएससी ईपीएफओ भर्ती के एडमिट कार्ड जारी, ये रहा डाउनलोड लिंक

डॉक्‍टर्स (Doctors) और दवा कंपनियों (Pharmaceuticals Companies) के साथ बैठक में पीएम मोदी (Prime Minister Modi) ने कहा है कि कोविड-19 (Covid-19) महामारी छोटे शहरों में भी अब तेजी से फैल रही है । ऐसी जगहों पर हमे अपने संसाधनों को उन्नत करने के प्रयास तेज करने की आवश्यकता है साथ ही प्रधानमंत्री मोदी ने डॉक्‍टर्स से लोगों को कोविड-19 के बारे में फैल रही अफवाहों के प्रति जागरुक करने को भी कहा है ।

आपको बता दें कि भारत (India) में पिछले कई दिनों से कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण के नए मामले रोजाना रिकॉर्ड संख्‍या में आ रहे हैं । आज सोमवार को ही कोविड-19 के एक दिन में रिकॉर्ड 2,73,810 नए मामले सामने आने के साथ ही संक्रमण के कुल मामले 1.50 करोड़ के पार पहुंच गए । करीबन 25 लाख नए मामले बीते महज 15 दिन के भीतर सामने आए हैं । केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (ICMR) की ओर से सोमवार की सुबह जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक, देश में उपचाराधीन मरीजों की संख्या भी 19 लाख से अधिक हो गई है ।


Spread the love