Spread the love

Covid Vaccine Registration: 18 साल से अधिक आयु वालों के लिए कोविड-19 वैक्सीन रेजिस्ट्रेशन (Covid-19 Vaccine Registration) हुआ शुरू, कोविन पोर्टल (Cowin) और अरोग्य सेतु ऐप (Arogya Setu App) से रेजिस्ट्रेशन करे । जैसे कि आप सभी को पता है कि देश मे कोविड-19 महामारी से लड़ने के लिए 1 मई से कोरोना का महा टीकाकरण अभियान की शुरुआत होने जा रही है और इस दौरान 18 साल से अधिक आयु वर्ग के लोग टीका लगवा सकेंगे। इसके लिए 28 अप्रैल यानी यानी आज शाम 4 बजे से रजिस्ट्रेशन शुरू हो चुका है।

वर्तमान में भारत में दो प्रकार की कोविड वैक्सीन लगाए जा रही हैं, जिनमें से एक हैदराबाद स्थित भारत बायोटेक द्वारा विकसित कोवक्सीन (Covaxin) है, जबकि दूसरी वैक्सीन का नाम कोविशील्ड (Covishield) है, जिसे ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका (Oxford Astrezeneca) ने तैयार किया है और सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute of India) द्वारा भारत मे ही बनाया जा रहा है। हालांकि हाल ही में कुछ नए वैक्सीन को भी इंडियन ड्रग रेग्यूलेटर ने इजाजत दी है।

Covid Vaccine Registration: 18 साल से ऊपर के सभी लोगों को रजिस्ट्रेशन कराना होगा जरूरी

18 साल से ऊपर के सभी लोगों को रजिस्ट्रेशन कराना होगा जरूरी  क्योंकि18 साल से 45 साल के उम्र के लोगों को बिना रजिस्ट्रेशन के वैक्सीन नहीं लगाई जाएगी। इस आयु वर्ग के लोगों को कोरोना वैक्सीन के लिए रजिस्ट्रेशन कराना होगा और अपाइंटमेंट बुक करना होगा।

कोविड-19 वैक्सीन रेजिस्ट्रेशन (Covid Vaccine Registration)

कोविड-19 वैक्सीन रेजिस्ट्रेशन (Covid Vaccine Registration): देश मे कोरोना महामारी की दूसरी सबसे खतरनाक लहर इस समय चल रही है। जिससे दिन-प्रतिदिन साढ़े तीन लाख से ज्यादा मामले सामने आ रहे और दो से ढाई हजार लोगों की मौत रोजाना हो रही है । कोरोना के कहर के बीच देश की केंद्र और राज्य सरकारों ने यह निर्णय लिया है । 1 मई से कोरोना महामारी के खिलाफ महा टीकाकरण अभियान की शुरुआत की जाए। कोरोना की वैक्सीन लेने के लिए आपको कोविड-19 वैक्सीन रेजिस्ट्रेशन (COVID 19 vaccine registration) कराना जरूरी होगा ।

  • रेजिस्ट्रेशन सिर्फ 18 साल से 45 साल के आयुवर्ग के लोगों के लिए वैक्सीन का रेजिस्ट्रेशन आज शाम के चार बजे कोविन (cowin.gov.in),
  • आरोग्य सेतु (Arogya Setu) और उमंग एप (Umang App) पर रजिस्ट्रेशन शुरू हुआ है.
  • हालांकि हैवी ट्रैफिक की वजह से वेबसाइट/App में दिक्कतें सामने भी आई और ऐप्प में दिक्कत की शिकायत के बाद आरोग्य सेतु ने ट्वीट कर कहा है कि कोविन पोर्टल अब ठीक से काम कर रहा है. शाम के चार बजे मामूली दिक्कत आई थी ।

Also Read: Delhi Lockdown News: सीएम केजरीवाल ने दिल्ली में की लॉकडाउन की घोषणा, जानें क्‍या खुलेगा और क्‍या रहेगा बंद

कोविड-19 (Covid-19) की दूसरी लहर से निपटने के लिए शुरू हुई टेस्टिंग (Coronavirus Testing): कोरोना महामारी से संक्रमण का पता लगाने के लिए देश में कई तरह के टेस्ट के विकल्प मौजूद हैं लेकिन इस जांच सर्वाधिक प्रयोग रैपिड एंटीजन टेस्ट (Rapid Antigen Test) और आरटी-पीसीआर टेस्ट (RT-PCR Test) का होता है। देश में इन दो टेस्ट के जरिए सरकार व्यक्ति में संक्रमण के बारे में पता करती है। हालांकि, ये दोनों टेस्ट सौ फीसदी सही नहीं होते। इन दोनों टेस्ट में आरटी-पीसीआर टेस्ट (RT-PCR Test) को ज्यादा विश्वसनीय माना जाता है। एंटीजन टेस्ट की रिपोर्ट 15 से 30 मिनट के अंदर आ जाती है जबकि आरटीपीसीआर टेस्ट में छह से आठ घंटे का  समय लगता है। 

Credit: Janstta

Covid Vaccine Registration: आरटी-पीसीआर टेस्ट (RT-PCR Test) क्या होता है ?

आरटी-पीसीआर टेस्ट (RT-PCR Test) का पूरा नाम ‘रिवर्स ट्रांसक्रिप्शन पॉलिमियर्स चेन रिएक्शन’ है। इसकी जांच प्रयोगशाला में की जाती है। इस टेस्ट के जरिए व्यक्ति के शरीर में कोरोना वायरस (Coronavirus) का पता लगाया जाता है। इसमें वायरस के आरएनए की जांच की जाती है। ज्यादातर सैंपल नाक और गले से म्यूकोजा के अंदर वाली परत से स्वैब लिया जाता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन और यूएस सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल पीसीआर टेस्ट को ज्यादा विश्वसनीय मानते हैं। लेकिन अन्य टेस्ट की तरह यह टेस्ट भी पूरी तरह से पूर्ण नहीं है। इसकी जांच की कीमत एंटीजन टेस्ट से महंगी होती है। दिल्ली में आरटीपीसीआर टेस्ट की कीमत 800 रुपए तय की गई है।

रैपिड एंटीजन टेस्ट (Rapid Antigen Test) क्या होता है?

बाहर से शरीर में दाखिल होने वाले वैक्टीरिया एंटीजन होते हैं। रैपिड एंटीजन टेस्ट (Rapid Antigen Test) के नतीजे 15 से 30 मिनट के भीतर आ जाते हैं। इस जांच में व्यक्ति की रिपोर्ट यदि निगेटिव आती है तो उसे फाइनल नहीं माना जाता। इस टेस्ट की आरटीपीसीआर जांच होती है। रैपिड एंटीजन टेस्ट (Rapid Antigen Test) में व्यक्ति की रिपोर्ट यदि पॉजिटिव (Positive) आती है तो उसे संक्रमित मान लिया जाता है। एंटीजन टेस्टिंग व्यक्ति के पास जाकर की जाती है।  इस टेस्ट में व्यक्ति की नाक के दोनों तरफ से फ्लूइड का सैंपल लिया जाता है। स्ट्रिप पर एक रेड लाइन आने पर रिपोर्ट निगेटिव मानी जाती है। स्ट्रिप पर यदि दो रेड लाइन आती है तो व्यक्ति को संक्रमित माना जाता है। इस जांच की कीमत 150 रुपए है।


Spread the love