गूगल पर लगा जुर्माना: E.U Fined $1.7 Billion on Google: Unfair Advertising Rules.

11,760 करोड़ का जुर्माना लगा गूगल (Google) पर, किस लिए लगा आइए जानते है।

गूगल (Google) एक बहुत ही बड़ा प्लेटफार्म है। इसे सर्च इंजिन भी कहते है। गूगल पर आप कुछ भी सर्च कर लीजिए, उसका रिजल्ट आपको गूगल 1 मिनट से भी कम समय मे उपलब्ध करवा देता है। गूगल की यह खासियत है कि वह किसी को भी कुछ भी सर्च करने वाले को मायूस नही करता है। बल्कि आधे मिनट में तुरंत रिजल्ट लाकर देता है।

लेकिन हाल ही में गूगल फिर से सुर्खियों में बना हुआ है। इस बार वह अपने ऊपर लगे जुर्माने को लेकर सुर्खियों में है। आइए जानते है, आखिर क्यों लगा गूगल पर 11,760 करोड़ का जुर्माना

इस वजह से लगा गूगल (Google) पर 11,760 करोड़ का जुर्माना.

यूरोप के यूरोपीय संघ (European Union) के प्रतिस्पर्धा आयोग ने गूगल (Google) पर ऑनलाइन सर्च विज्ञापनदाताओं (Advertisements) को ब्लॉक करने पर 149 करोड़ यूरो यानी 11,760 करोड़ रुपये का जुर्माना गूगल पर लगाया है।

गूगल पर यह जुर्माना ऑनलाइन विज्ञापन (Online Advertising) में अपनी मज़बूत स्थिति के दुरुपयोग को लेकर लगा है। दो साल के अंदर यह तीसरी बार ऐसा हुआ है। जब यूरोपीय संघ ने गूगल पर प्रतिस्पर्धा नियमों के उल्लंघन को लेकर जुर्माना लगाया है।

दरसल ऐसे हुआ, गूगल की पेरेंट या स्वामित्व वाली कंपनी अल्फ़ाबेट (Alphabet) विज्ञापनो से हर वर्ष अरबों डॉलर की आय करती है और साल 2018 में विज्ञापन से इसका टैक्स पूर्व मुनाफ़ा लगभग 3070 करोड़ डॉलर का हुआ था।

वही प्रतिस्पर्धी आयोग ने यह पाया कि गूगल और उसकी पैरेंट कंपनी अल्फाबेट ने ईयू (European Union) के प्रतिस्पर्धा निरोधक नियमों (Rules) का उल्लंघन किया। वही यह भी बताया कि कंपनी ने एडसेंस का उपयोग करने वाली वेबसाइटों (Websites) के साथ अनुबंध में प्रतिबंधात्मक उपबंधों का उपयोग किया है। गूगल ने इसी के जरिये प्रतिद्वंद्वी कंपनियां अपने विज्ञापन इन वेबसाइटों पर देने से रोका गया.

Video Credit – Navodaya Times

वही दूसरी ओर यूरोपीय संघ (European Union) की प्रतिस्पर्धा आयुक्त मार्गरेट वेस्टेजर (Margarette Westejar) ने कहा कि गूगल ने जो किया वो यूरोपीय यूनियन के एंटी ट्रस्ट नियमों के ख़िलाफ़ है। उन्होंने ब्रसेल्स में गूगल के एडसेंस विज्ञापन (Adsense Advertisement) कारोबार की लंबे समय से चल रही जांच के परिणाम के बारे में जानकारी देते हुए स्पष्ट किया।

वेस्टेजर (Westjar) ने कहा, “कि जांच से यह पता चलता है कि कैसे गूगल ने एडसेंस प्लेटफॉर्म (Adsense Platform) की जगह ब्रोकरों (Broker’s) का उपयोग कर रही वेबसाइटों (Websites) को रोकने के लिए अपनी मज़बूत स्थिति का दुरुपयोग किया है।”

वही ग्लोबल के वैश्विक मामलों के प्रमुख केंट वॉकर (Kant Walker) ने कहा, “हमारा हमेशा से मानना रहा है कि स्वस्थ और प्रतिस्पर्धी बाज़ार (Competitive Market) हर किसी के हित में है। आयोग की चिंताओं के मद्देनज़र हमने अपने उत्पादों में बड़े बदलाव किए हैं। अगले कुछ महीनों में कुछ बदलाव लोगों के सामने होंगे।”

गूगल और यूरोपियन यूनियन में खींचतान चलती रहती है। यह पहला मामला नही जब यूरोपीय यूनियन ने गूगल पर इतना जुर्माना लगाया है। इससे पहले भी दो बार ऐसा जुर्माना यूरोपीय यूनियन जुर्माना लगा चुका है। पिछले साल जुलाई में यूरोपीय यूनियन ने गूगल पर रिकॉर्ड 4.3 अरब यूरो (लगभग 344 अरब रुपये) का जुर्माना लगाया था।

यूरोपीय यूनियन ने यह फ़ैसला गूगल पर लगे सभी आरोपों के बाद सभी दावों की जांच करने के बाद दिया था। जिसमें आरोप यह लगाया गया था कि अमरीकी कंपनी गूगल ने अपने मोबाइल डिवाइस रणनीति के तहत गूगल सर्च इंजन को ग़लत तरीके से इस्तेमाल कर उसे ताक़तवर बनाया था।

Read Also: DARK MODE FEATURE UPDATE SOON IN WHATSAPP AND GMAIL: NEWS BOG.

Please follow and like us:

One thought on “गूगल पर लगा जुर्माना: E.U Fined $1.7 Billion on Google: Unfair Advertising Rules.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *