Silicon Valley Bank Crisis [Hindi]: अमेरिका के सिलिकॉन वैली बैंक पर लगा ताला, क्यों बढ़ी भारतीय निवेशकों की चिंताए 

Silicon Valley Bank Crisis [Hindi] बैंक बंद होने का असर क्या होगा
Spread the love

Silicon Valley Bank Crisis [Hindi]: अमेरिका का बड़ा बैंक सिलिकॉन वैली बैंक दिवालिया हो गया है। बैंक की वित्तीय हालात को देकते हुए उसे बंद कर दिया गया है। इस खबर के आने के बाद ना केवल अमेरिकी बाजार बल्कि दुनियाभर के बाजारों में कोहराम मच गया। दुनियाभर में मंदी की आशंका बढ़ गई है। लोगों को साल 2008 की याद आ रही है।

बैंक के पास 209 अरब डॉलर की संपत्ति 

सिलिकॉन वैली अमेरिका का 16वां सबसे बड़ा बैंक है. 2008 के वित्तीय संकट के बाद कोई इतना बड़ा बैंक बंद हो हुआ है और इसने तकनीकी उद्योग को झटका दिया है. बैंक के पास 209 अरब डॉलर की संपत्ति और 175.4 बिलियन डॉलर की जमा राशि थी. ये बैंक नए जमाने की टेक कंपनियों और वेंचर कैपिटल में निवेश वाली कंपनियों को वित्तीय सपोर्ट देता था. यह स्पष्ट नहीं था कि इस समय एसवीबी की जमा राशि 250,000 डॉलर की लिमिट से कितनी अधिक थी

Silicon Valley Bank Crisis [Hindi]: फेडरल रिजर्व बैंक के ब्याज का असर 

पिछले 18 महीनों में फेडरल रिजर्व ने ब्याज दरों में बढ़ोतरी ने टेक कंपनियों में निवेशक को कम किया है. साथ ही निवेशकों के लिए जोखिम पैदा हुआ है. सिलिकॉन वैली बैंक तकनीकी उद्योग के संपर्क में था, जिस कारण इसके बैंकिंग पर बूरा प्रभाव पड़ा है. उधर बाकी के बैंकों के पास इससे बचने के लिए पर्याप्त पूंजी है. 

अमेरिका का बैंक हुआ दिवालिया, दुनिया भर में दिखा असर

अमेरिका के इस बैंक के बंद होने की खबर का असर दुनियाभर के देशों पर देखा जा सकता है। इस खबर के आने के बाद बैंकिंग सेक्टर के बेंचमार्क स्टॉक इंडेक्स में अचानक 8.1% गिरावट आ गई। ये गिरावट पिछले तीन सालों में एक दिन में आई सबसे बड़ी गिरावट है। भारतीय शेयर बाजार पर भी इसका असर पड़ा है। शुक्रवार को भारतीय शेयर बाजार लाल निशान के साथ बंद हुआ है।

अमेरिका के इस बैंक के बंद होने के बाद हर तरफ उथल-पुथल देखने को मिल रही है। बैंक क दिवालिया होने की खबर से दुनिया भर के बाजारों में अगले कुछ दिनों तक नेगेटिव सेंटिमेंट बना रह सकता है। भारतीय बाजार भी इससे अछूता नहीं है। वहीं दुनियाभर पर एकबार फिर से मंदी का खतरा मंडराने लगा है।

Silicon Valley Bank Crisis [Hindi]: क्यों याद आ रही है 2008 की

सिलिकॉन वैली बैंक के बंद होने के बाद लोगों को 2008 की याद आने लगी है। बैंकिंग फर्म लेहमन ब्रदर्स के चलते साल 2008 में अमेरिका को सबसे बड़े बैंकिंग क्राइसिस से गुजरना पड़ा था। सिर्फ अमेरिका नहीं पूरी दुनिया मंदी की चपेट में आ गई थी। दरअसल लेहमन ब्रदर्श समेत अमेरिका के तमाम बैंकों ने उस दौर पर खूब लोन बांटे थे। साल 2001 से 2006 के बीच अमेरिकी रियल एस्टेट कंपनियों को जमकर लोन दिए गए। बिना ये सोचे लोन बांटे गए कि ये वापस कैसे आएंगे।

Also Read: UPI Payment Charges: पूरी तरह फ्री रहेगी यूपीआई पेमेंट सर्विस, वित्त मंत्रालय का आधिकारिक ब्यान

उस वक्त अमेरिकी रियल एस्टेट बाजार बुलंदियों पर था। बैंकों ने भी मुनाफा कमाया, और कंपनियों को उनके एसेट्स से ज्यादा लोन तक दे दिए। लेकिन जब इस सेक्टर में मंदी आई तो बैंकों की मुश्किलें बढ़ी। कंपनियां बर्बाद होने लगी और बैंकों का कर्ज डूबने लगा। साल 2008 में लेहमन ब्रदर्स ने खुद को दिवालिया घोषित कर दिया। अमेरिका समेत दुनियाभर में मंदी की शुरुआत हो गई।

भारत के स्टार्टअप्स में लगा है पैसा

सिलिकॉन वैली बैंकिंग संकट का असर भारतीय स्टार्टअप्स पर दिखेगा। इस बैंक ने भारत में 20 स्टार्टअप में निवेश किया है। स्टार्टअप रिसर्च एडवाइजरी Tracxn के मुताबिक साल 2003 में भारतीय स्टार्टअप में निवेश किया था। हालांकि, इनमें निवेश की गई राशि की स्पष्ट जानकारी सामने नहीं आई है, लेकिन पिछले साल अक्टूबर में भारत की स्टार्टअप कंपनियों ने सिलिकॉन वैली बैंक से करीब 150 मिलियन डॉलर की पूंजी जुटाई थी।

भारत में सबसे अहम निवेश एसएएएस-यूनिकॉर्न आईसर्टिस में है। इसके अलावा ब्ल्यूस्टोन, पेटीएम, one97 कम्युनिकेशन्स, Paytmमॉल, नापतोल, कारवाले, शादी, इनमोबी और लॉयल्टी रिवार्ड्ज जैसे स्टार्टअप में बैंक का निवेश है। जाहिर है कि बैंक के बंद होने से इन निवेशकों की चिंता बढ़ेगी।

Silicon Valley Bank Crisis [Hindi]: SVB में दूसरे बैंक के विलय की हो रही है चर्चा

रिपोर्ट में सूत्र के हवाले से कहा गया है कि FDIC कोशिश कर रहा है कि सोमवार से पहले किसी बैंक को सिलिकॉन वैली बैंक के साथ विलय करने को राजी किया जाए. इससे अनसिक्योर्ड डिपॉजिट को सुरक्षित किया जा सकेगा, हालांकि ऐसी डील होती अभी नजर नहीं आ रही है.

क्या है पूरा मामला? (Silicon Valley Bank Crisis)

Silicon Valley Bank अमेरिका का 16वां सबसे बड़ा बैंक था. इसके कुल 209 बिलियन डॉलर के असेट और 175.4 बिलियन डॉलर डिपॉजिट में थे. वेंचर कैपिटल कंपनियों के लिए ये बैंक बड़ा सपोर्ट था. टेक इंडस्ट्री में इसका बड़ा हिस्सा था. अमेरिका में बढ़ते इंटरेस्ट रेट के बीच निवेशक कुछ ज्यादा ही सतर्क हुए हैं, जानकारी के मुताबिक, बैंक के कई क्लाइंट्स ने अपने पैसे निकालने शुरू कर दिए थे, ताकि वो लिक्विडिटी की जरूरतें पूरी कर सकें.

■ Also Read: एचडीएफसी लिमिटेड (HDFC Ltd) का एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) में होगा विलय

ऐसे में बैंक ने इसी हफ्ते अपनी पूंजीगत स्थिति मजबूत करने के लिए 1.75 बिलियन डॉलर फंड जुटाने का ऐलान किया था, जिसके बाद इसकी आर्थिक सेहत पर सवाल उठने लगे थे. इस बैंक की पैरेंट कंपनी SVB Financial Group के शेयर 70% तक गिर गए थे, जिसके बाद Nasdaq पर इसमें ट्रेडिंग रोक दी गई थी.

Silicon Valley Bank Crisis [Hindi]: बैंक बंद होने का असर क्या होगा?

FDIC ने कहा है, कि सिलिकॉन वैली बैंक का मुख्य कार्यालय और सभी शाखाएं 13 मार्च को फिर से खुलेंगी और सभी बीमित जमाकर्ताओं को सोमवार सुबह तक अपनी बीमाकृत जमा राशि तक पूरी पहुंच होगी। लेकिन FDIC ने ये भी कहा है, कि 2022 के अंत तक बैंक के 175 अरब डॉलर के डिपॉजिट में से 89% का बीमा नहीं किया गया है और उन बीमाओं का क्या होगा, इसका फैसला बाद में किया जाएगा।

वहीं, वीडियो गेम बनाने वाली कंपनी Roblox Corp RBLX.N और स्ट्रीमिंग डिवाइस बनाने वाली कंपनी Roku Inc (ROKU.O) ने कहा है, कि उनके पास बैंक में करोड़ों जमा हैं। आरोकू ने कहा, कि बैंक में उसने जो भी राशि जमा करा रखा था, उनका इंश्योरेंस नहीं हुआ था, जिसकी वजह से कंपनी के शेयर 10 प्रतिशत से ज्यादा गिर गये हैं।

टेक कंपनियों के बिगड़े हालात, बैंक भी डूबा

सिलिकॉन वैली बैंक अमेरिका के 16वां सबसे बड़े बैंक के रूप में जाना जाता है, इसके पास 210 अरब डॉलर से अधिक के एसेट्स हैं और कई शहरों में ब्रांच हैं। लगातार ब्याज बढ़ने से बैंक के हालात बिगड़ते रहे। ये बैंक टेक कंपनियों और नए वेंचर्स को फाइनेंशियल मदद करता है, इन कंपनी का बैंक पर करीब 44% बिजनेस है। फेडरल रिजर्व ने ब्याज दरें लगातार बढाई जिससे इन सेक्टर्स पर बुरा असर पड़ा। निवेशकों ने इनमें पैसा लगाना कम कर दिया था। यही वजह रही कि बैंक के कारोबर पर भी निगेटिव असर पड़ा। कर्ज के वापस नहीं मिलने की वजह से इसका सीधा असर बैंक के वित्तीय हालत पर पड़ा है।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.