Sushant Singh Rajput News [Hindi]: सुशांत के हाथ-पैरों में फ्रैक्चर के निशान थे, मोर्चरी स्टाफ का दावा

Sushant Singh Rajput News Hindi सुशांत के हाथ-पैरों में जख्म के निशान
Spread the love

Sushant Singh Rajput News [Hindi]: दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की मौत के दो साल बाद एक सनसनीखेज दावा किया गया है. सुशांत सिंह राजपूत के शव का पोस्टमॉर्टम करने वाले अस्पताल के मोर्चरी स्टाफ ने दावा किया है कि सुशांत सिंह की मौत की वजह आत्महत्या नहीं थी. उनके गले पर चोट के निशान थे. समाचार एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक, कूपर अस्पताल की मोर्चरी में मौजूद एक कर्मचारी ने इसे हत्या का मामला बता कर अभिनेता की हत्या की थ्योरी को फिर मजबूत कर दिया है.

अस्पताल के मोर्चरी अटेंडेंट रूपकुमार शाह ने बताया कि घटना की रात जब वह काम कर रहे थे तब एक वीआईपी बॉडी को पोस्टमार्टम के लिए लाया गया था. शाह ने कहा कि सुशांत का नंबर रात में 11 बजे आया था. बॉडी को देखने पर शाह ने पाया कि उनके शरीर पर कई जगह चोट के निशान थे.

Sushant Singh Rajput News [Hindi]: यह सुसाइड नहीं, मर्डर है

वह आगे कहते हैं, ‘जब मैंने पहली बार सुशांत का शव देखा तो मैंने तुरंत अपने सीनियर्स को बताया कि मुझे लगता है कि यह आत्महत्या नहीं हत्या है। मैंने उनसे यहा तक कह दिया कि हमें नियम के मुताबिक काम करना चाहिए। हालांकि मेरे सीनियर्स ने मुझे कहा कि जितनी जल्दी हो सके तस्वीरें लो और शव पुलिस को दे दो। यही वजह थी कि रात में पोस्टमॉर्टम किया गया।’

क्या है पूरा मामला

कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है जिसमें कूपर अस्पताल के स्टाफ रुप कुमार शाह नजर आ रहे हैं. वीडियो में वो कह रहे हैं कि, “जब सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की मौत हुई थी, तब हमें कूपर अस्पताल में पोस्टमार्टम के लिए 5 शव मिले थे. इसमें से एक वीआईपी शव था. जब हम पोस्टमार्टम करने गए तो पता चला ये शव सुशांत सिंह राजपूत का है. उनके शरीर पर चोट के कई निशान थे और गले पर जो निशान थे वो फंदे वाले नहीं लग रहे थे. वो निशान तड़पने के निशान जैसा था.”

कूपर अस्पताल के पूर्व कर्माचारी का दावा

करीब डेढ़ माह पहले सेवानिवृत्त हुए रूप कुमार शाह ने कहा है कि मैं 13-14 जून, 2020 को कूपर अस्पताल के मुर्दाघर में ही ड्यूटी पर था। बांद्रा स्थित सुशांत सिंह राजपूत के घर में संदिग्ध अवस्था में मृत पाए जाने के बाद उनका शव इसी अस्पताल में पोस्टमार्टम के लिए लाया गया था।

Also Read: Vikram Gokhale Death News [Hindi]; व‍िक्रम गोखले के न‍िधन की खबर झूठी, पर अब नहीं रहे विक्रम गोखले

रूप कुमार का दावा है कि जब सुशांत का शव अस्पताल में लाया गया, तो उनके शरीर पर चोट के निशान थे और शरीर सुन्न था। पोस्टमार्टम के समय मैं पूरे समय वहीं पर था। मैंने डॉक्टर्स से कहा था कि यह आत्महत्या का मामला नहीं है। इनकी हत्या हुई है। लेकिन डॉक्टर्स ने ध्यान नहीं दिया।

14 जून 2020 को हुई थी सुशांत सिंह राजपूत की संदिग्ध मौत

शाह का कहना है कि नौकरी में रहते हुए उन्होंने परेशानियों से बचने के लिए इस बारे में कोई बयान नहीं दिया। अब सेवानिवृत्त होने के बाद वह इस बारे में जानकारी दे रहे हैं। बता दें कि 14 जून, 2020 को सुशांत सिंह राजपूत की संदिग्ध मौत के बाद इस मामले की जांच पहले मुंबई पुलिस ने शुरू की थी। फिर बिहार पुलिस के हाथों होती हुई सीबीआई के पास पहुंच गई। सीबीआई ने अभी तक इस मामले में कोई रिपोर्ट नहीं दी है।

शिंदे गुट के सांसद राहुल शेवाले ने लोकसभा में उठाया मुद्दा

पिछले सप्ताह ही लोकसभा में शिवसेना शिंदे गुट के सांसद राहुल शेवाले ने सुशांत सिंह राजपूत की मौत का मामला उठाते हुए कहा था कि बिहार पुलिस की जांच में सुशांत की महिला मित्र रिया चक्रवर्ती के फोन पर ‘एयू’ नाम से 44 फोन आए थे। बिहार पुलिस इस नाम का अर्थ ‘आदित्य उद्धव ठाकरे’ लगा रही है। राहुल शेवाले ने जानना चाहा था कि सीबीआई की जांच में भी ये नाम सामने आया है क्या ? शेवाले के इस सवाल के बाद यह मामला दिल्ली और मुंबई में एक बार फिर चर्चा में आ गया है।

■ Also Read: Sushant Singh Rajput Death at 34: One thing he missed doing

Sushant Singh Rajput News [Hindi]: एक्टर के वकील ने दिया बयान

सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput Death) की मौत हत्या या आत्महत्या? दो साल बीत जाने के बाद भी इसका पता नहीं चल पाया है। एक्टर की बहन लगातार अपने भाई को इंसाफ दिलाने की कोशिश में जुटी हैं। अब अस्पताल के कर्मचारी के दावे के बीच एक्टर के वकील ने भी हैरान कर देने वाला बयान दिया है। उनका कहना है कि एक्टर की मौत कोई मामूली आत्महत्या नहीं थी।

फॉरेंसिक एक्सपर्ट ने जताई नाराजगी

Sushant Singh Rajput News [Hindi]: बता दें कि मॉर्चरी के कर्मचारी ने दावा किया कि सुशांत के शव पर चोट के निशान थे। उनके पोस्टमार्टम के दौरान वीडियोग्राफी करने की बात को अनसुना कर केवल तस्वीरें ली गई थीं। उनके शव को देखकर साफ बताया जा सकता था कि उन्होंने आत्महत्या नहीं की थी, बल्कि उनका मर्डर हुआ था। इसके बाद अब फॉरेंसिक एक्सपर्ट ने कर्मचारी के दावे पर गुस्सा व्यक्त किया है।

Sushant Singh Rajput News [Hindi]: सुशांत की गर्दन, शरीर पर थे कई निशान

रूपकुमार शाह के इस दावे के बाद तमाम फॉरेंसिक एक्सपर्ट्स ने साजिश रचने वालों पर नाराजगी जताई। उनका कहना है कि अगर अस्पताल के कर्मचारी इतने जानकार हैं तो डॉक्टर और उनकी डिग्री किस काम की है? अभिनेता की मौत के दो साल बीतने के बाद रूपकुमार शाह ने दावा किया कि सुशांत सिंह राजपूत के शरीर और गर्दन पर कई निशान मौजूद थे। 

अभिनेता को मारने का तरीका था एकदम अलग

रूपकुमार शाह का कहना है कि जब अभिनेता के शव को अस्पताल लाया गया था, तब वह ड्यूटी पर मौजूद था। उन्होंने जब बॉडी को देखा तो उनकी गर्दन पर हैंगिंग का निशान दिखा था, लेकिन वह आत्महत्या जैसा नहीं लग रहा था।

Sushant Singh Rajput News [Hindi]: रूपकुमार के अनुसार, सुशांत की गर्दन पर एक ऐसा मार्क था, जैसे खींचने के बाद तड़पते शख्स की गर्दन पर बनता है। इसके अलावा पैर, हाथ और शरीर के अलग-अलग हिस्सों  पर कई तरह के निशान दिखाई दिए थे। मॉर्च्युरी कर्मचारी का दावा है कि अभिनेता को मारने का तरीका एकदम अलग था। उन्हें वह निशान फ्रैक्चर की तरह लग रहा था।

Sushant Singh Rajput News [Hindi]: डॉक्टरों की डिग्री किसी काम की नहीं

इस मामले को लेकर दूसरे फॉरेंसिक एक्सपर्ट्स का कहना है कि यह एक तरह का सुराग हो सकता है, लेकिन यह सबूत नहीं हो सकता है। जो भी व्यक्ति इस तरह का दावा कर रहा है, बाकी एक्सपर्ट्स द्वारा उसका मूल्यांकन किया जाना चाहिए। इससे यह पता लगाया जा सकेगा कि वह कर्मचारी जो कुछ भी कह रहा है, वह उसको समझ आता है या फिर नहीं।

वहीं, एक अन्य विशेषज्ञ ने कहा कि अगर मॉर्च्युरी का कर्मचारी हत्या और आत्महत्या की पहचान कर सकता है तो डॉक्टरों और उनकी डिग्री का क्या मतलब बनता है? उन्होंने कहा कि दो साल बाद डॉक्टरों को गलत दिखाना सही नहीं है। इस तरह की चीजों को रोकने की जरूरत है।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.