Valentine Day 2022: वैलेंटाइन से हो रहा है संस्कारों का हनन व समाज का पतन

Home Hindi Valentine Day 2022: वैलेंटाइन से हो रहा है संस्कारों का हनन व समाज का पतन
Valentine Day 2022 [Hindi] Story & Message Special Gift for You
Spread the love

आज हम आपको बताएँगे कि Valentine Day कैसे हमारे समाज के लिए हानिकारक है तथा, कैसे हमारे समाज में आज Valentine Day 2022 की आड़ में अश्लीलता बढती जा रही है और संस्कारों का हनन हो रहा है. साथ ही हम आपको बताएँगे कि कैसे आप और आपका परिवार संस्कारी बन सकता है? जानने के लिए ब्लॉग को पूरा पढ़ें.

Valentine Day Story in Hindi (वैलेंटाइन डे की कहानी)

वैसे तो सभी जानते हैं कि यह दिन प्रेम करने वालों के लिए बहुत खास होता है, लेकिन इसके पीछे भी एक कारण है। दरअसल वैलेंटाइन किसी दिन का नाम नहीं यह एक पादरी का नाम है, लेकिन इसके बारे में बहुत से इतिहासकारों में मतभेद हैं। अगर कुछ इतिहासकारों की माने तो जिस वक़्त रोम में सम्राट क्लॉडियस का राज था, उस समय वैलेंटाइन रोम का पादरी था। सम्राट क्लॉडियस अपने साम्राज्य का विस्तार करना चाहते थे, इसीलिए उन्होंने ज्यादा से ज्यादा लोगों को आर्मी में शामिल होने के लिए कहा।

वैलेंटाइन डे मनाने की शुरुआत कब हुई?

वैलेंटाइन डे 14 फरवरी को विश्वभर में मनाया जाता है.माना जाता है कि इस दिन को मनाने की शुरुआत रोम के राजा क्लॉडियस के दौर में ही हो गई थी. उस वक्त  रोम में एक पादरी हुआ करते थे, जिनका नाम सेंट वैलेंटाइन था. उन्होंने ही पहली बार वैलेंटाइन डे की शुरुआत की थी.

सैंट वैलेंटाइन को हुई थी इस दिन फांसी

हांलाकि सेंट वैलेंटाइन ने राजा के इस आदेश का विरोध किया था और कई अधिकारियों और सैनिकों की शादी करवाई थी. जब राजा को इस बारे में पता लगा तो वह गुस्से में आ गया और उन्होंने 14 फरवरी के दिन ही सेंट वैलेंटाइन को फांसी पर चढ़ा दिया था. इसके बाद उनके निधन के बाद हर साल 14 फरवरी को ही सैंट वेलेंटाइन के बलिदान को याद करने के लिए इसे ‘प्यार के दिन’ के रूप में मनाया जाता है.

■ Also Read: Happy Valentine’s Day: List, Wishes, History, Gifts, Facts: Blog News

Valentine Day 2022: प्रेम के अनेकों रूप

अगर बात करें प्रेम की तो प्रेम केवल युवा लड़के और लड़की के बीच ही नहीं होता, बल्कि यह हर रिश्ते को बनाये रखने की कड़ी है। प्यार मां-बाप, भाई, बहन, दोस्तों एवं गुरु-शिष्य आदि के बीच भी होता है, इस तरह हम कह सकते हैं कि प्रेम के अनेकों रूप हैं। लेकिन यही निष्काम प्रेम परमात्मा के साथ किया जाए तो जीवन की असली दिशा पकड़ी जा सकती है।

प्रेम का बदलता स्वरूप

लेकिन अगर बात करें प्यार की तो इसका स्वरूप दिन व दिन बदलता जा रहा है, यहाँ पहले प्यार को त्याग का प्रतीक माना जाता था वहीं अब इसकी जगह स्वार्थ ने ले ली है। पहले लोग प्रेम करते थे और पवित्रता से निभाते भी थे, पहले प्रेम में इज़्ज़त को पहल दी जाती थी, वहीं अब लोग जिसको प्यार करते हैं उसकी इज़्ज़त तार-तार करने में भी संकोच नहीं करते। यहाँ तक कि अब आमतौर पर देखने को मिलता है कि लोग सार्वजनिक स्थानों मेट्रो, ट्रेनों, बसों, पार्कों में भी अश्लीलता प्रर्दशन करने का मौका नहीं छोड़ते, जबकि पहले लोग आँखों को शर्म से झुका लिया करते थे।

Valentine Day 2022 पर सतज्ञान से बने चरित्रवान?

जैसाकि आप सभी जानते हैं कि वर्तमान में समाज में कितनी बुराई घर कर गई है न शर्म रही, न लाज। भाई बहन का प्यार रहा नहीं और सभी को केवल माया-माया दिखाई देती हैं। छोटे बड़े का आदर नहीं रहा स्वार्थवश मानवता को भूलकर लोग एक-दूसरे के साथ कैसा बर्ताव करते हैं आप सब परिचित हैं। सतज्ञान के अभाव में अफ़सर अपने अहंकारवश अपने से छोटे-बड़ों का आदर भी नहीं करते।

Valentine Day 2022 Special Gift

Valentine Day 2022 पर आप सभी अनमोल पुस्तक जीने की राह जरूर पढ़ें, इस पुस्तक को पढ़ें से आपको भले बुरे का ज्ञान होगा तथा परमात्मा की जानकारी भी प्राप्त होगी।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: